Friday, November 5, 2010

शुभ दिवाली

आप सभी मित्र गणों को समस्त युगहंस परिवार की ओर से दिवाली के शुभ अवसर पर हार्दिक बधाइयां॥ प्रस्तुत हैं:
जब धरनी हुई कुंठित, मानव हुए संकुचित॥
फिर अस्मिता बनी द्रोपदी, क्या हम हैं निर्दोषी॥

आओ प्रण ले इस पावन पर्व पर, आवाज उठाने का, क्योंकि ठीक ऐसे ही कहता था..वो बूढा-लाठी वाला कि अत्याचार को सहना भी करने के बराबर ही है..उससे कम नहीं है..

5 comments:

आशीष मिश्रा said...

आपको भी सपरिवार दिपोत्सव की ढेरों शुभकामनाएँ

DIMPLE SHARMA said...

बहुत अच्छा पोस्ट, दीपावली की हार्दिक शुभकामनाये....
sparkindians.blogspot.com

DIMPLE SHARMA said...

बहुत अच्छा पोस्ट, दीपावली की हार्दिक शुभकामनाये....
sparkindians.blogspot.com

संगीता पुरी said...

दीपावली का ये पावन त्‍यौहार,
जीवन में लाए खुशियां अपार।
लक्ष्‍मी जी विराजें आपके द्वार,
शुभकामनाएं हमारी करें स्‍वीकार।।

Udan Tashtari said...

सुख औ’ समृद्धि आपके अंगना झिलमिलाएँ,
दीपक अमन के चारों दिशाओं में जगमगाएँ
खुशियाँ आपके द्वार पर आकर खुशी मनाएँ..
दीपावली पर्व की आपको ढेरों मंगलकामनाएँ!

-समीर लाल 'समीर'